पारंपरिक झोपड़ीशिल्पग्राम

पैठापुर हवेली – गुजरात

पेठापुर हवेली, गुराजत की राजधानी गाँधीनगर के पास बसा है। पैठापुर यह एक छोटा कस्बा, जो छपाई के ब्लाॅक बनाने के लिये प्रसिद्ध है। 188 वर्ष पुराना दो मंजिला पारंपरिक आवास पैठापुर से लाया गया है। यह भवन इस क्षेत्र के काष्ठ शिल्प का अनुपम उदाहरण है जो ठोस लकड़ी के फर्श छत और दरवाजों में देखने को मिलता हैै।
लकड़ी की बारिक नक्काशी का पारंपरिक काम खम्भो और मुख्य रूप से ‘‘गोखड़े’’ पर देखा जा सकता है। 33 बाई 13 साईज के इस भवन का उपयोग यहां आने वाले अतिथियों के लिये भी किया जाता है। जगह-जगह लकड़ी के पाट एवं अलमारियों में गुप्त जगह रखी गई है जिसमें जरूरी एवं कीमती सामान जेवर रूपया पैसा सुरक्षित रखा जाता था। हवेली बहुत खुली हवादार एवं रईसी को प्रस्तुत करने वाली दिखलाई पड़ती है

Tags